Tuesday, 9 August 2011


कुछ  टूटता  सा  क्यों  है
एक  एहसास    तेरे  दूर  जाने  का क्यों  है


एक  रिश्ता  जो  संजोया  भी  न  था
   उसके   खोने  का  दर्द  क्यों  है 


1 comment: