Saturday, 13 August 2011

बहुत  अहसान   किये  है  जिंदगी  तुमने

मौत   से  बचाया  तो  कभी  खूब  हंसाया

अब   एक  अहसान और  कर  दो
 उनकी  यादो  को  मेरे  दिलो  दिमाग  से अगवा  कर  दो

कुछ  तो सुकून आए

ऐसी   कोइ  दवा कर दो

No comments:

Post a Comment