Sunday, 16 October 2011

दो  बोल  तेरे
एक  मौन  मेरा
एक  मौन  तेरा  
सौ  सोच  मेरी ...

एक  दिल  मेरा ...
एक  दिल  तेरा ....
हर  रात  मेरी ....
हर  रात  तेरी ...
कुछ  ख्वाब  मेरा ...
कुछ   ख्वाब  तेरा ...
कुछ  सच  हुआ ..
कुछ  रह  गया ..
अब  तो  बस  तू  मेरा
और  में   तेरी .... :))

3 comments: