Wednesday, 9 November 2011

एक संघर्ष है जीवन
कभी परिस्थितियां विषम तो कभी राह सुगम
जीत गए बाज़ी कभी
तो कभी हार बैठे हम
यूँ तो 
रहता  नहीं कभी  एक सा मौसम
जाता है एक तो याद आता है हरदम
बीत ही जाता  है  हर  मौसम
ख़ुशी का  पल हो या हो कोई गम
सीखते जाना है उनसे  बस
कोई न कोई गुन.... हरदम...







4 comments:

  1. बहुत अच्छा संदेश दिया है शालिनी जी।

    सादर

    ReplyDelete
  2. bahut acche, bahut acche, apki sangat mein to ham bhi likhne lage, man ki kehne lage, dil ki sunne lage

    ReplyDelete
  3. thanx Yashwant ji

    Anjula u'r too good!! :)))

    ReplyDelete
  4. this is superbly written shalini ji , superb :))

    ReplyDelete