Tuesday, 7 February 2012



अपने दामन में वो लम्हे छुपा ले ज़रा
संभलते  नहीं मुझसे क्यों कर ,

रख लू तो दिल भर आता है

 खो दू तो जीयु कैसे भला ....

No comments:

Post a Comment