Monday, 27 February 2012

कुछ   देर  दम  तो  ले  ए मुसाफिर 

मंजिल  अभी  दूर  ही  लगती  है ,

किस्से  प्यार  के  शुरू  भी  न  हुए  ..




शिकायतों  के  गुबार  में  


क्यों  खत्म  वो  कहानी  लगती  है ..

sks ♥

No comments:

Post a Comment