Tuesday, 7 February 2012



सिमिटी सी जिंदगी में न जाने कहाँ थे तुम

एक सुकून तो था कि न तुम बदले न हम ..

No comments:

Post a Comment