Tuesday, 7 February 2012



तेरे आने की खबर

कुछ धुप की गर्मी सी


हलचल सी लगी दिल में

दुनिया भी लगे  पगलाई सी

नींद में जगती हू

बंद आँखों ने  टकटकी लगायी है

एक झोंके सा आया तू

आंधी तेरे जाने से आई है

कोई नयी खबर तो दे ऐ दोस्त

कि हर हलचल अब थम सी आई है ...

No comments:

Post a Comment