Monday, 19 March 2012

सिर्फ ओस की बूंदे नहीं हैं  ये ..
रोई है रात आंसुओं से .. रात भर ..!!!

No comments:

Post a Comment