Monday, 19 March 2012

उस तरफ सो गया है संसार सारा,
दिन के उजाले ने क्यों इधर अँधेरा है पसारा,
तुम तो सो जाते हो बेखबर,
कोई करता है इंतज़ार 
जागने का तुम्हारा ...

No comments:

Post a Comment