Thursday, 8 March 2012


दोस्ती  फासलों  की  मोहताज़  नहीं  

खुलूस  का  नजदीकी  से  इत्तेफाक  नहीं 

वरना  लोग  लोग  ही  रहते  

दोस्त  बन  के  करीब  आते  नहीं ...

No comments:

Post a Comment