Saturday, 19 May 2012

ab to mizaz milne hi lage hain shayad..


.gaaliyan bhi teri lori si ban jaati hain







अब तो मिज़ाज़ मिलने ही लगे हैं शायद..


गालियान भी तेरी लोरी सी लगने लगी हैं....

No comments:

Post a Comment