Monday, 13 August 2012

हर
नयी सुबह 
हैरानियाँ नयी ..
जिंदगी एक 
राज़ कई ...
खुलती नहीं 
एक पहेली 
सी हुई..

No comments:

Post a Comment