Sunday, 2 December 2012

na sawaal ho kisi jawab par
na kisi jawab pe sawal ho
tu chhod de espe har faisala 
kisi faisale par na bawaal ho (sawal)

tere dam se yu hi gujaar du
ye jo umra hai ek sawaal si ..
maut aye to le jaye zindgi jawab si..








न सवाल हो किसी जवाब पर 
न कोई  जवाब हो किसी सवाल का 
तू छोड़ दे उसी पर  हर फैसला 
उसके फ़ैसले पर न कोई सवाल हो।।

तेरे दम से यु ही गुज़ार दू 
ये जो उम्र है एक सवाल सी ..
ऐ  मौत आ ले जा तू ही 
यह जिंदगी एक जवाब सी।।।
-शालिनी 

1 comment:

  1. khoob likha hai aapne............
    मौत भी ठुकरा देती है मायूसियों को, मगर
    खुशियों का तो जिंदगी भी इंतज़ार किया करती है....

    ReplyDelete