Monday, 14 January 2013

संभाल लेती हूँ हर तीर  फूलो की तरह 


देखना है ..कब तलक निगाह तेज़ है मेरी 



या ..कब तू निशाना चूक जाये ...

1 comment: