Monday, 25 April 2016

गिरवी पड़े हैं ...
शब्द भाव कल्पना और स्वप्न.... !
मधुर मुस्कान और स्नेह से
छुड़ा लाना ..तुम ....!!!!
sks<3
21.4.2016

No comments:

Post a Comment