Thursday, 25 August 2016

नींव तक हिल जाती हैं 
यह दीवारें जो तुम बढ़ा देते हो ..यकायक ..!!!
sks<3

No comments:

Post a Comment