Wednesday, 24 August 2016

अस्तित्व हमारा हम से नहीं
माँ के बिना मैं संभव नही...!!

आचार विचार संस्कार का आधार है 
रोम रोम मेरा ऋणी अपार है...!!

माँ तुम्हारा बहुत बहुत आभार है..!!!
sks💝

No comments:

Post a Comment