Wednesday, 24 August 2016

यहाँ सफ़ाई हो ही नहीँ सकती ...
न दिमाग़ की ,न दिल की ....न शहर की

ताल्लुक होगा तो...
इत्तिला भी होगी ...!!

sks<3


No comments:

Post a Comment