Friday, 26 August 2016

मेह सहरा पर बरसा करे
 रूह मरु की  सवर जाये...!
जो बरसे  खारे समुन्दर पर 
 देह खारी की खारी हो जाये..!!
sks<3

No comments:

Post a Comment