Wednesday, 24 August 2016

तय है तपिश के बाद बरसना,
बारिशों का बरस कर थमना...!

बहुत  आराम देता है अक्सर
दर्द का बेहिसाब  होना ...!!!
sks<3
7.7.2016

No comments:

Post a Comment