Wednesday, 24 August 2016

हलकी सी बारिशें .. बादलों में धूप..
बरसते मौसम ..उमसते हैं खूब....!!!
-शालिनी
2.7.2016

कल के बजाय आज आ जाये 
मरने से कौन डरता है ...
ज़िन्दगी छू भर जाये 
तो डर बहुत लगता है...!!

-शालिनी

तर्क ए ताल्लुक है, तो हुआ करे ,
मुझसे उलझन है, तो हुआ करे,
मुझको मालुम है अपना हाल 
हो खलबली तेरे नाम से तो हुआ करे ...!!

sks💝

किसी रोज़ छूकर लौट आऊं मन तेरा
हवा से जान लेना.. तुम पता मेरा..!!

sks💝

डूब कर उबर आऊँ हर बार, ज़रूरी नहीं..
इंसान हूँ ..किसी समुन्दर का किनारा  नहीं ...!!!

sks💝

aaj ka gyan

Baal ki khaal nikaalne me na BAAL rehta hai na KHAAL !!!!!!

sks<3

No comments:

Post a Comment