Thursday, 1 September 2016

बातें सिर्फ़  बातें नहीं होतीं...
आवाज़ें लहू में दौड़ती हैं हरदम...!!
धमकती हैं कानों में
आँखों से निकल बहती हैं ...!!!
-शालिनी

No comments:

Post a Comment