Tuesday, 6 September 2016

हर कूचा ए महफ़िल में देखती हूँ जब उनको ..
सोचती हूं..
ये जो सबके नज़र आते हैं ...दरअसल वो किसी के नही होते...!!!
sks💝

No comments:

Post a Comment